कहते है बस बेटी ये तेरा नसीब था 😒😒

चारो तरफ खुशी का मौहोल था ,कही बाजो तो कही ढोलक का शोर था। चारो तरफ खुशी का ……. बड़े नाजो से पाला तुम मुझे, अपने जीवन की सारी जमापूंजी कर दी मुझे पर निछावर, बेटी राज करेंगी, कर दी मेरी विदाई 😒जब कुछ भी ऐसा ना मिला। देखकर हो दुखी उसने मुझे कहा बसContinue reading “कहते है बस बेटी ये तेरा नसीब था 😒😒”

Create your website with WordPress.com
Get started